विपक्ष ने किया किसानों की मांगों को लेकर हंगामा, सदन की कारवाई शुक्रवार तक स्थगित


  • विपक्ष ने किया किसानों की मांगों को लेकर हंगामा, सदन की कारवाई शुक्रवार तक स्थगित
    विपक्ष ने किया किसानों की मांगों को लेकर हंगामा, सदन की कारवाई शुक्रवार तक स्थगित
    राज्य के किसानों की मांगों को लेकर विपक्ष ने विधान परिषद में जोरदार हंगामा किया...
    1 of 1 Photos

नागपूर :- राज्य के किसानों की मांगों को लेकर विपक्ष ने विधान परिषद में जोरदार हंगामा किया । विधान परिषद में बोंड इल्ली ग्रस्त किसानों को नुकसान भरपाई नही मिलने पर इस हंगामे के बीच दो बार सदन की करवाई स्थगित की गई। जिससे सभापति रामराजे निम्बालकर ने सदन की कारवाई शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दी। मानसून सत्र के दूसरे दिन गुरुवार को सदन की कारवाई शुरू होते ही विधान परिषद में विरोधी पक्ष नेता धनंजय मुंडे ने 289 नियम के बोंड इल्ली ग्रस्तों को सरकार द्वारा धोखा देने का मुद्दा सदन में उपस्थित किया। सदन के सारे कामकाज रोककर इस पर चर्चा की मांग की। सभापति ने 289 नियम अंतर्गत चर्चा कराने से इनकार कर दिया। चर्चा नही होने से नाराज विपक्ष के सदस्यों ने वेल में उतरकर जमकर हंगामा किया। इस हंगामे के बीच दो बार आधे आधे घंटे के लिए  सदन की कारवाई स्थगित करनी पड़ी। कारवाई शुरू होने पर फिर विरोधी पक्ष की ओर से हंगामा किया गया। विपक्ष का आक्रामक रुख देखते हुए तालिका सभापति नीलम गोरे ने कारवाई दिन भर के लिए स्थगित कर दी। 

बता दे की कि इस बार विधानमंडल का मानसून सत्र नागपुर में शुरू है, इस दौरान किसानों की मांगों को लेकर विपक्ष आक्रामक रुख अपनाए हुए है। सरकार ने प्राकृतिक आपदा खौसतौर पर बोंड इल्ली से जिन किसानों की फसल बर्बाद हुई थी उन्हें नुकसान भरपाई देने की घोषणा की थी, लेकिन 80 प्रतिशत किसानों को सरकारी योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। इसी तरह किसानों के कर्ज मााफी को लेकर जो नियम बनाए गए हैं वे इतने कड़े हैं कि किसानों की कर्ज माफी नहीं हो पाई है। वर्तमान में फसल के कर्ज को लेकर भी किसानों को ढेरों परेशानियो का सामना करना पड रहा है। राज्य सरकार की ओर से कम भाव में किसानों को बीज देने की योजना भी मात्र दिखावा साबित हो रही है। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week