दीपावली के लिए बाजार सजने लगे : आकर्षक आकाशदीप तैयार है बाजार में


  • दीपावली के लिए बाजार सजने लगे : आकर्षक आकाशदीप तैयार है बाजार में
    दीपावली के लिए बाजार सजने लगे : आकर्षक आकाशदीप तैयार है बाजार में
    दीपावली का बाजार सज चुका है जिसके लिए बाजारों में आकर्षक आकाशदीप तैयार है...
    1 of 3 Photos
  • दीपावली के लिए बाजार सजने लगे : आकर्षक आकाशदीप तैयार है बाजार में
    दीपावली के लिए बाजार सजने लगे : आकर्षक आकाशदीप तैयार है बाजार में
    1 of 3 Photos
  • दीपावली के लिए बाजार सजने लगे : आकर्षक आकाशदीप तैयार है बाजार में..
    दीपावली के लिए बाजार सजने लगे : आकर्षक आकाशदीप तैयार है बाजार में..
    1 of 3 Photos

नागपुर : दीपावली का बाजार सज चुका है जिसके लिए बाजारों में आकर्षक आकाशदीप तैयार है। दीपावली को मात्र चार दिन शेष है, खरीदारों की भीड़ बाजारों में उमड़ रही है। शहर में घर घर में आकाशदीप जिसे हम कंदील भी कहते है लगाए जाते है I जिसके डैम इस साल बढे है बाजारों में ५० रुपये से लेकर ६०० रुपये तक के आकाशदीप बेचने के लिए है I आज भी हर मन में आस्था और विश्वास वही है, लेकिन बदलते दौर के साथ दीपावली पर्व के बाजार का स्वरूप बदल चुका है। मिट्टी के दीयों की जगह घर-घर कृत्रिम रोशनी की जगमगाहट है तो मोमबत्ती ने मोम के दियों का रूप ले लिया है। सिंदूर और रंगोली से बनने वाले स्वास्तिक अब एलईडी युक्त हो गए हैं। मिठाइयों का स्वाद भी बदला है। रोशनी के पर्व दीपावली पर बाजार का यह नया लुक लोगों को रास आ रहा है।

दीवाली के मद्देनजर शहर के बर्डी, इतवारी, गांधीबाग, कमाल चौक, सक्करदरा, गोकुलपेठ आदि बाजार गुलजार हो चुके हैं। शहर अन्य छोटे-बड़े बाजारों में दिन-रात लोग खरीदारी में जुटे है। स्थायी दुकानों पर ही नहीं, अस्थायी दुकानों पर भी ग्राहकों की भीड़ जबरदस्त है। बच्चों में पर्व की खुमारी कुछ अलग ही है। वो अभी से कपड़े और मिठाइयां खरीदने की जिद करते नजर आ रहे हैं। वहीं महिलाएं घर का सजावटी सामान और गहनों की खरीदारी में जुटी हैं। दुकानदारों को उम्मीद है कि इस बार दीपावली पर्व पर शहर का बाजार पिछले साल की अपेक्षा अधिक मुनाफे वाला रहेगा।

मां लक्ष्मी और भगवान गणेश का पूजन दीपावली पर होता है। लक्ष्मी-गणेश की आकर्षक छोटी-बड़ी मूर्तियां बाजार में मौजूद हैं। नागपुर के बाहर से आईं मूर्तियों की खासियत ये है कि इनका रंग नहीं उतरता है, और काफी आकर्षक भी हैं। आकाशदीप और मट्टी के दीपक की भी काफी डिमांड है। जो कई रंगों में बाजार में उपलब्ध है। मूर्तियों की कीमत जहां ५० रुपये से १००० रुपये तक है वहीं दीपक की कीमत ६ रुपये से ५० रुपये के आगे तक है।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week