राज्य बैंक के प्रयासों को सरकार का समर्थन- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस


  • राज्य बैंक के प्रयासों को सरकार का समर्थन- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस
    राज्य बैंक के प्रयासों को सरकार का समर्थन- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस
    राज्य में सहकार के सशक्तिकरण के लिए राज्य सहकारी बैंकों द्वारा किए जा रहे प्रयासों...
    1 of 1 Photos

राज्य में सहकार के सशक्तिकरण के लिए राज्य सहकारी बैंकों द्वारा किए जा रहे प्रयासों को सरकार का समर्थन रहेगा. कठिनाइयों के दौर से गुजर रहे जिला बैंकों की सहायता के के मद्देनजर प्रभावशाली तौर पर रूपरेखा बनाई जानी चाहिए, ऐसा आह्वान मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आज यहां किया.

दि महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक के मुख्यालय में प्रतिष्ठित श्री विठ्ठल मूर्ति का लोकार्पण मुख्यमंत्री श्री देवेंद्र फडणवीस के हाथों हुआ, इस अवसर पर वह बोल रहे थे. बैंक का 107 वा वर्धापन दिन और शारदीय नवरात्रउत्सव की शुरुआत के उपलक्ष्य में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था. इस समय सरकार मंत्री सुभाष देशमुख, विधायक भरत भालके, सहकार आयुक्त सतीश सोनी, बैंक के प्रशासक मंडल के अध्यक्ष विद्याधर अनासकर, मंडल के सदस्य अविनाश महागांवकर, संजय भेंडे, प्रबंध निदेशक आर एल बायस, विशेष कार्य अधिकारी अजीत देशमुख आदि उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री श्री फडणवीस ने कहा कि सहकार के मंदिर में विट्ठल की मूर्ति की प्रतिष्ठापना महत्वपूर्ण है क्योंकि वारकरी समुदाय पूरी तरह से सहकार पर ही आधारित है. एक दूसरे के साथ ‘माऊली’ का नामस्मरण करते हुए पंढरपुर की ओर कुच करते हैं. इसमें गरीब-श्रीमंत, जाति धर्म का कोई भेदभाव नहीं होता, विट्ठल के नाम से एकरूप होकर एक दूसरे की सहायता के साथ दिंडी चलती है. ठीक इसी तरह से सहकार का क्षेत्र भी चलता है. समाज के लोगों ने एक साथ आकर समाज के लोगों के लिए ही निर्माण की गई व्यवस्था है. इससे परिवर्तन, अधिकारिता और स्थिरता देने का काम किया जाता है. इस कारण भागवत धर्म को सहकार सिखाने वाले विट्ठल मूर्ति का इस सहकार मंदिर में स्थापन करने का अवसर मिला यह काफी आनंददाई है, इस तरह से मुख्यमंत्री ने अपनी भावना व्यक्त की.

बैंक के 107 वर्ष पूरे हुए हैं तथा 108 वर्ष में कदम रखने की बात बैंक के लिए काफी महत्वपूर्ण है. इसमें बैंक की वरिष्ठता और उच्चस्थान स्पष्ट रूप से दिखाई देता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बैंक के पीछे बड़ा इतिहास है. इसने अपनी यात्रा में काफी चढ़ाओ और उतार देखे हैं और इसमें से भी सही सलामत बाहर आया है, यह काफी संतोषजनक है. उन्होंने कहा कि सहकार के लिए अनेक उपयुक्त और पारदर्शी निर्णय लिए गए हैं. अब बैंक अच्छी मजबूत स्थिति में पहुंच गई है. राज्य में सहकार क्षेत्र में जहां भी कठिनाइयां है वहां यह पहुंच जाते हैं. सहकारी शक्कर कारखानों में भी इन्हीं बैंकों के माध्यम से सहायता की जाती है.

उन्होंने कहा कि ऐसे कारखानों पर राज्य के किसानों की स्थिरता निर्भर करती है. इस कारण उनको मदद करना ही पड़ता है. पर अब साथ में सूतगिरनी यों को भी मदद करनी होगी. राज्य बैंक सहकार के क्षेत्र को मजबूत और सशक्त करने का प्रयास कर रही है, इस कारण राज्य में स्थापित जिला बैंकों को कठिनाई के समय मदद की जाएगी. जिला सहकारी बैंकों की हालत बिकट होने पर किसान मुसीबत में आ जाता है और उसे कोई विकल्प नहीं रह जाता. इस कारण इन बैंकों का मजबूत होना आवश्यक है. वह जिंदा रहे, उनका विस्तार हो, तथा इसके माध्यम से किसानों को मदद मिले इसके लिए प्रयास किए जाएंगे. इन बैंकों की मदद के लिए शिकर बैंक के रूप में तैयार किए गई रूपरेखा को राज्य सरकार समर्थन देगी, ऐसा भी उन्होंने कहा. शिखर बैंक में कालानुरूप हो रहे परिवर्तन को स्वीकार किया है और इसमें से पारदर्शिता के साथ सराहनीय काम किया है. उन्होंने इसके लिए प्रशासक मंडल के साथ ही अधिकारी और कर्मचारियों का अभिनंदन किया. सहकार मंत्री देशमुख ने राज्य बैंक को ग्रामीण भागों में जाकर सरकार के क्षेत्र को और मजबूत करने की सलाह दी.



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week