आर्किटेक्चर छात्र दें पर्यावरणपूरक नगर निर्मिति के लिए योगदान – मुख्यमंत्री देवेंद्र फडण


  • आर्किटेक्चर छात्र दें पर्यावरणपूरक नगर निर्मिति के लिए योगदान – मुख्यमंत्री देवेंद्र फडण
    आर्किटेक्चर छात्र दें पर्यावरणपूरक नगर निर्मिति के लिए योगदान – मुख्यमंत्री देवेंद्र फडण
    शहरों का नियोजनपूर्वक विकास होना आवश्यक है. वर्तमान में तापमान में बढ़ोतरी का बड़ा संकट हमारे सामने है...
    1 of 1 Photos

शहरों का नियोजनपूर्वक विकास होना आवश्यक है. वर्तमान में तापमान में बढ़ोतरी का बड़ा संकट हमारे सामने है. इसके लिए आर्किटेक्चर शाखा के विद्यार्थियों ने पर्यावरण का विचार कर उत्कृष्ट दर्जे के नगर निर्मिति के लिए योगदान देना आवश्यक है, ऐसा प्रतिपादन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने किया.

सतीश मिसाल एज्युकेशन फाऊंडेशन के ब्रिक स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर, उंड्री संस्था का पहला दीक्षांत समारोह मुख्यमंत्री श्री. फडणवीस के हाथों संपन्न हुआ. इस समय वह बोल रहे थे. इस अवसर पर महिला एवं बालविकास मंत्री पंकजा मुंडे, महापौर मुक्ता टिलक, सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय के कुलगुरु नितीन करमलकर, संस्था की विश्वस्त विधायक माधुरी मिसाल, कार्यकारी संचालक पूजा मिसाल, दीपक मिसाल, प्राचार्या पूर्वा केसकर आदि उपस्थित थे. श्री.फडणवीस के हाथों किया गया. साथ ही विशेष गुणवत्ता और डिग्री धारक विद्यार्थियों को डिग्री देकर सम्मानित किया गया.

डिग्री संपादित करनेवाले सभी विद्यार्थियों का अभिनंदन कर मुख्यमंत्री श्री. फडणवीस ने कहा, इतने कम समय में और कालावधि में ब्रिक एज्युकेशन संस्था ने शैक्षिक क्षेत्र में अच्छा नाम कमाया है, यह वाकई सराहनीय है.

उन्होंने कहा, नगर नियोजन में शाश्वत विकास का विचार करना आवश्यक है. विश्व का सर्वोत्तम स्थापत्यशास्त्र भारत में तैयार हुआ है. हडाप्पा और मोहंजोदडो जैसे सुनियोजित शहर प्राचीन काल के उत्कृष्ट स्थापत्यशास्त्र के उदाहरण है. वर्तमान में नगररचना नियोजन और अधिक नगररचनाकारों की आवश्यकता है. देश की निर्मिति और निर्माण में इस पाठ्यक्रम के विद्यार्थी योगदान दें और दर्जेदार मानव संसाधन निर्माण किया जाए.

इस सदी में विद्यार्थियों ने आम दर्जे का न रहते हुए अधिकाधिक ज्ञान ग्रहण कर समाज को उत्कृष्ट सेवा प्रदान करनी होगी. देश का विकास तेजी के साथ होते समय विद्यार्थियों द्वारा तकनीकी रूपी अश्व पर सवार होना आवश्यक है. हमे समाज की ओर से जो मिलता है, अपने कार्यकर्तृत्व से विद्यार्थियों ने समाज को वायस कुछ दिलाने की भूमिका लेने का आवाहन श्री.फडणवीस ने किया.

महिला एवं बालविकास मंत्री पंकजा मुंडे ने कहा कि, संस्था के विद्यार्थियों का उत्साह सराहनीय है. युवाओं द्वारा चुनौतियों का सामना कर उसे पूर्ण करने के लिए प्रयास हो. चुनौतियों का सामना करते समय असफलता मिलनेपर निराश न होकर मजबूती से सफल राह चुननी चाहिए. आर्किटेक्ट के विद्यार्थी नई संकल्पनाओं को सामने रखकर उसे पूरा करनेवाले विद्यार्थी होते है. अपनी संकल्पनाओं को मूर्त स्वरुप लाकर देश की निर्मिति में युवा योगदान दें, ऐसा उन्होंने कहा.

प्रस्ताविक में पूजा मिसाल ने संस्था की प्रगति की जानकारी दी. प्राचार्य पूर्वा केसकर ने आभार प्रकट किए. इस समय सांसद अनिल शिरोले, विधायक भीमराव तापकीर, विधायक संजय भेगडे, विधायक योगेश टिलेकर समेत लोकप्रतिनिधि, शिक्षा क्षेत्र के गणमान्य, विद्यार्थी पालक, शिक्षक बड़ी संख्या में उपस्थित थे.



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week